Monday, July 16

Sawan Somwar Vrat Vidhi

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr +

Sawan Somwar Vrat Vidhi

Sawan Somwar Vrat Vidhi

सावन सोमवार व्रत विधि
भगवान शिव की उपासना के लिए सावन का समय शुभ माना जाता है। सावन के महीने में शिव भक्तों को प्रत्येक सोमवार (Sawan Somvar Vrat) को केवल रात में ही भोजन करना चाहिए और शिव जी की उपासना करनी चाहिए।

सावन सोमवार व्रत (Sawan Somvar Vrat)

साल 2018 में सावन सोमवार के व्रत 28 जुलाई से शुरु होंगे और 26 अगस्त को सावन का महीना समाप्त हो जाएगा। ​

सावन सोमवार व्रत विधि (Sawan Somvar Vrat Vidhi in Hindi)

स्कंदपुराण के अनुसार भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए सावन सोमवार के दिन एक समय भोजन करने का प्रण लेना चाहिए। भगवान भोलेनाथ के साथ पार्वती जी की पुष्प, धूप, दीप और जल से पूजा करनी चाहिए। इसके बाद भगवान शिव को तरह-तरह के नैवेद्य अर्पित करने चाहिए जैसे दूध, जल, कंद मूल आदि। सावन के प्रत्येक सोमवार को भगवान शिव को जल अवश्य अर्पित करना चाहिए।

रात्रि के समय जमीन पर सोना चाहिए। इस तरह से सावन के प्रथम सोमवार से शुरु करके कुल नौ या सोलह सोमवार इस व्रत का पालन करना चाहिए। नौवें या सोलहवें सोमवार को व्रत का उद्यापन करना चाहिए। अगर नौ या सोलह सोमवार व्रत करना संभव ना हो तो केवल सावन के चार सोमवार भी व्रत किए जा सकते हैं।
अपने भोले स्वभाव के कारण भगवान शिव का एक नाम भोलेनाथ भी है। इसी कारण भगवान शिवजी से जुड़े व्रतों में किसी कड़े नियम का वर्णन पुराणों में नहीं है। साथ ही शास्त्रों के अनुसार सावन सोमवार व्रत में तीन पहर तक उपवास रखने के बाद एक समय भोजन करना चाहिए। सिर्फ सावन सोमवार ही नहीं अन्य शिवजी से जुड़े व्रतों में भी सूर्योदय के बाद तीन पहर (9 घंटे) तक उपवास रखना चाहिए। साथ ही भगवान शिव की प्रिय वस्तुएं जैसे भांग- धतुरा आदि उनकी पूजा में अवश्य रखने का प्रयत्न करना चाहिए।

Do You Want Consulting?

Ask To Astrologer Right Now Live Chat

Share.

About Author

CEO Astha or Adhyatm Faith & Spirituality Pooja Satya is Higher Spiritual personality, Astrologer, Horoscope, Prediction, Nadi Astrologer, Career Consultant.

Leave A Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.