भैरव पूजन

भैरव पूजन

अब अपने बांई और चावलों की ढेरी पर एक गोल सुपारी स्थापित का सिंदूर का टीका और गुड का भोग लगा कर
भैरव लोचन मन्त्र द्वारा भोग लगाये

 “बलिदानेन संतुष्टो बटुकः सर्व सिद्ध्दा:
    शांति करोतु में नित्यं भुत वेताल सेविते:”

“Balidanene  santushto batukah sarv siddhihah
Shanti karotu  me  nityam  bhut  vetal  sevitah”.

लक्ष्मी बंधन काटना

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.