by in धर्म

श्रीमद्भागवत गीता Shreemad Bhagvad Geeta

श्रीमद्भागवत गीता Shreemad Bhagvad Geeta गीताजी का पाठ आरंभ करने से पूर्व निम्न श्लोक को भावार्थ सहित पढ़कर श्रीहरिविष्णु का ध्यान करें शान्ताकारं भुजगशयनं पद्यनाभं सुरेशं  विश्वाधारं गगनसदृशं मेघवर्णं शुभाङ्गम्।  लक्ष्मीकान्तं कमलनयनं योगिभिर्ध्यानगम्यं  वन्दे विष्णु भवभयहरं सर्वलोकैकनाथम्।। भावार्थ : जिनकी आकृति अतिशय शांत है, जो शेषनाग की शैया पर शयन किए हुए हैं, जिनकी नाभि में […]